नरसिंहपुर

रेत खदानों के संचालन के संबंध में कार्यशाला का हुआ आयोजन

Spread the love

जिले की 21 रेत खदान ग्राम पंचायतों को हस्तांतरित

नरसिंहपुर, 10 जनवरी 2019. मध्यप्रदेश शासन के निर्देशों के परिपालन में जिले की 21 रेत खदान ग्राम पंचायतों को हस्तांतरित कर संचालित की जायेंगी। रेत खदानों के सुचारू संचालन के संबंध में नियम निर्देशों से अवगत कराने के उद्देश्य से एक कार्यशाला का आयोजन कलेक्टर दीपक सक्सेना की मौजूदगी में जिला पंचायत के सभाकक्ष में किया गया।
कार्यशाला में बताया गया कि जिले के लिए स्वीकृत रेत खदानों में जनपद पंचायत बाबई चीचली की घूरपुर- कजरोटा, चीचली, बगदरा, कुड़ारी, दिघौरी, बैरागढ़, गांगई, अजंदा व चोरबरहेटा, जनपद पंचायत सांईखेड़ा की खिर्रिया व नांदनेर, जनपद पंचायत गोटेगांव की गंगई, जनपद पंचायत करेली की रेवानगर, जल्लापुर व देवाकछार, जनपद पंचायत चांवरपाठा की भूमियाढाना व इमझिरा और जनपद पंचायत नरसिंहपुर की लोकीपार, सिमरिया, भूतपिपरिया व वारूरेवा रेत खदान शामिल हैं।
कार्यशाला में जानकारी दी गयी कि उक्त रेत खदानों से संबंधित ग्राम पंचायत/ नगरीय निकाय से किसी भी प्रकार की अवैधानिक रायल्टी पर्चियों का उपयोग कर रेत खनिज का परिवहन नहीं कराया जावे। रेत उत्खनन के लिए जिले में कहीं भी किसी भी तरह की मशीनों का उपयोग किसी भी दशा में पूर्णत: वर्जित है। रेत का उत्खनन केवल मानव श्रम द्वारा ही किया जाना है। इन रेत खदानों के संचालन के लिए जारी निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जावे। नियम विरूद्ध उत्खनन पर संबंधितों के विरूद्ध नियमानुसार कार्रवाई की जायेगी। ग्राम पंचायतों/ नगरीय निकायों द्वारा ई- खनिज पोर्टल के माध्यम से जारी ई- ट्रांजिट पास (पारपत्र) से ही रेत खदानों से रेत का परिवहन कराया जा सकेगा।
कार्यशाला में अपर कलेक्टर जे.समीर लकरा, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत आर.पी. अहिरवार, अनुविभागीय राजस्व अधिकारी, तहसीलदार, खनिज अधिकारी, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, संबंधित नगरीय निकाय अध्यक्ष, ग्राम पंचायत के सरपंच, सचिव व ग्राम रोजगार सहायक मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *