नरसिंहपुर

जिसका न नेता तय है और न नीति तय है….. अमित शाह

Spread the love

नरसिंहपुर. भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने जनपद मैदान में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में फिर से सरकार बनाने का दावा करते हुए आज कहा कि भाजपा और कांग्रेस में नीति और नेता का फर्क है. शाह ने आगे कहा  राहुल गांधी आजकल खूब सभाएं ले रहे हैं. लेकिन इन सभाओं में वे 22 मिनट के भाषण में 44 बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लेते हैं. समझ में नहीं आता कि वे मोदी जी और भाजपा का प्रचार कर रहे हैं या कांग्रेस का. कांग्रेस अध्यक्ष को मोदी फोबिया हो गया है. जहां देखो मोदी-मोदी रटते रहते हैं.

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि चुनाव के नगाड़े बज चुके हैं और दोनों तरफ की सेनाएं तैयार हैं. एक तरफ भाजपा है, जो मोदी के नेतृत्व में शिवराज सिंह को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाकर चुनाव लड़ रही है. दूसरी तरफ कांग्रेस है, जिसका न नेता तय है और न नीति तय है. उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस में यही फर्क है. उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने 15 सालों में प्रदेश को बदल के रख दिया है.

शाह ने कहा, “आजकल राहुल बाबा दिन में भी सपने देखने लगे हैं. उन्हें सपना आता है कि मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में हमारी सरकार बन रही है. सपने देखने का सभी को हक है और मैं ऐसा सपना देखने के लिए राहुल बाबा के हौसले की दाद देता हूं. लेकिन राहुल बाबा ऐसा सपना देखने से पहले जरा देश में 2014 के बाद हुए चुनावों का इतिहास उठाकर देख लीजिए. जितने चुनाव हुए हर जगह कांग्रेस को हार मिली है.”

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि राहुल बाबा हिम्मत वाला होना अच्छी बात है, लेकिन दिन में सपने मत देखिए. चुनौती देता हूं, विकास पर दो-दो हाथ कर लें. उन्होंने कहा कि साल 2003 तक जब यहां बंटाढार की सरकार थी, प्रदेश में कहीं तीन तो कहीं चार घंटे बिजली आती थी. शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार ने 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराने का काम किया है. कांग्रेस के जमाने में प्रदेश में कुल 2900 मेगावाट बिजली का उत्पादन था, भाजपा सरकार ने उसे 17700 मेगावाट तक पहुंचाया. उन्होंने कहा कि कांग्रेसी किसानों की बातें करते हैं, लेकिन इनके 55 सालों के शासन के बाद प्रदेश में सिर्फ 7.7 लाख हेक्टेयर में सिंचाई होती थी. भाजपा सरकार ने 15 सालों में इसे 40 लाख हेक्टेयर तक पहुंचाया. उन्होंने कहा कि मिस्टर बंटाढार के समय में कभी सरकार ने किसानों से गेहूं, मक्का, धान, सोयाबीन नहीं खरीदा. शिवराज सरकार ने किसानों से समर्थन मूल्य पर अनाज का एक-एक दाना खरीदना शुरू किया.

राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में महंत प्रीतमपुरी गोस्वामी एक बार फिर भाजपा में शामिल हो गये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *