Uncategorised

राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा 18 फरवरी को परीक्षा कक्ष में परीक्षार्थी चप्पल या सेण्डल पहनकर ही प्रवेश कर सकेंगे जूते- मोजे पहनकर प्रवेश वर्जित होगा- आयोग ने परीक्षार्थियों के लिए जारी किये दिशा- निर्देश

Spread the love

नरसिंहपुर, 12 फरवरी 2018. मध्यप्रदेश राज्य लोक सेवा आयोग के अंतर्गत वर्ष 2018 की मध्यप्रदेश राज्य सेवा एवं राज्य वन सेवा की प्रारंभिक परीक्षा रविवार 18 फरवरी को दो सत्रों में आयोजित की जायेगी। परीक्षा का प्रथम सत्र प्रात: 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक और द्वितीय सत्र दोपहर 2.15 बजे से अपरान्ह 4.15 बजे तक होगा। इस परीक्षा के आयोजन के संबंध में लोक सेवा आयोग द्वारा दिशा निर्देश जारी किये गये हैं। आयोग ने इन निर्देशों का परीक्षा के दौरान कड़ाई से पालन करने को कहा है। समस्त परीक्षार्थियों को परीक्षा केन्द्र में 9 बजे तक पहुंचना अनिवार्य होगा।
जारी निर्देशों में कहा गया है कि कक्ष में जाने के पूर्व वीक्षक परीक्षार्थियों की तलाशी लेंगे। यह सुनिश्चित करेंगे कि परीक्षार्थी वर्जित वस्तुयें लेकर प्रवेश न करें। सामान्यता परीक्षा में ऐसा पाया गया है कि परीक्षार्थी अपने कपड़ों, क्लफ, चश्मा, जूते- मोजे, हाथ के बैंड, हाथ में बंधन इत्यादि में कई तरह के इलेक्ट्रानिक डिवाइस का प्रयोग करते हैं। अत: परीक्षा में किसी इलेक्ट्रानिक डिवाइस के उपयोग को रोकने के लिए परीक्षा में जूते- मोजे पहनकर प्रवेश वर्जित होगा। परीक्षार्थी चप्पल या सेण्डल पहनकर आ सकते हैं। इसी तरह चेहरे को ढककर परीक्षा कक्ष में प्रवेश वर्जित होगा। एसेसरीज जैसे बालों का बाधने का क्लेचर/ बक्कल, घड़ी, हाथ में पहने जाने वाले बैंड, कमर में पहने जाने वाले बैल्ट, धूप से बचाने के लिए चश्मे, पर्स, वॉलेट, टोपी वर्जित है। सिर, नाक, कान, गला, हाथ, पैर, कमर आदि में पहने जाने वाले सभी प्रकार के आभूषण तथा हाथ में बंधे धागे, कलावा, रक्षासूत्र आदि का परीक्षण कर वीक्षकों द्वारा परीक्षार्थियों के कक्ष में जाने के पूर्व तलाशी ली जायेगी।
परीक्षार्थियों को मोबाइल, केल्कुलेटर इत्यादि इलेक्ट्रानिक उपकरण, पठन सामग्री एवं वर्जित वस्तुयें लेकर परीक्षा कक्ष में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। अत: परीक्षा केन्द्र में प्रवेश के पहले परीक्षार्थियों से उक्त सामग्री प्राप्त कर सुरक्षित रखने की व्यवस्था की जायेगी। इसके लिए कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है।
ऐसे सभी परीक्षार्थियों को जिनके पास संबंधित परीक्षा केन्द्र के लिए आयोग द्वारा जारी प्रवेश पत्र होगा उन्हें प्रवेश दिया जायेगा। प्रवेश देने के पहले यह सुनिश्चित किया जायेगा कि परीक्षार्थी के पास आयोग द्वारा निर्धारित फोटो परिचय पत्रों में से कोई एक मूल परिचय पत्र रहे। सभी परीक्षार्थियों को परीक्षा कक्ष में पहुंचने के पूर्व अपना आईडी प्रूफ जैसे आधार कार्ड, पेन कार्ड, वोटर आईडी आदि की फोटो कापी देते समय मूल दस्तावेज दिखाना अनिवार्य होगा।
अनुसूचित जाति एवं जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग के परीक्षार्थियों को यात्रा भत्ता की पात्रता होगी। इसके लिए उन्हें अपने बैंक खाता की फोटो कापी, जाति प्रमाण पत्र, प्रवेश पत्र की फोटोकापी, टिकिट आदि परीक्षा केन्द्र में जमा कराना अनिवार्य होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *