नरसिंहपुर

नरसिंहपुर जिले की प्रथम ई- रिक्शा चालक बनी प्रीति

Spread the love

संबल योजना से प्रीति को मिला स्वरोजगार
नरसिंहपुर, 20 जून 2018.
मध्यप्रदेश में असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का लाभ देने के लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की पहल पर शुरू की गई मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना- संबल मजदूरों के परिवारों के लिए बहुत कारगर सिद्ध हो रही है।
नरसिंहपुर नगरीय क्षेत्र की इंद्रा वार्ड निवासी प्रीति रैकवार का परिवार असंगठित क्षेत्र के मजदूर के रूप में पंजीकृत है। उनके पिता दवा की दुकान पर काम करते हैं। प्रीति स्वयं का रोजगार स्थापित कर परिवार का सहारा बनना चाहती थी। उन्हें शुरू से ही वाहन चलाने का शौक रहा है। उनके पास पिछले पांच साल से एलएमव्ही लायसेंस है।
प्रीति को संबल योजना के अंतर्गत ई- रिक्शा प्राप्त हुआ है। उन्हें बैंक ऑफ इंडिया से ई- रिक्शा के लिए एक लाख 70 हजार रूपये का बैंक ऋण स्वीकृत हुआ। प्रतिमाह दो हजार रूपये की बैंक किस्त होगी। प्रीति ने बताया कि 34 हजार रूपये की सब्सिडी भी मिलेगी। ई- रिक्शा के माध्यम से वे शहर के अंदर सवारियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाती हैं। ई- रिक्शा में किसी तरह का शोर नहीं होता, इस कारण सवारियां ई- रिक्शा में बैठना पसंद करती हैं। उनका ई- रिक्शा शहर में अच्छी तरह से चलने लगा है। बैटरी चलित रिक्शा एक बार चार्ज करने पर लगभग सौ किमी चलता है।
प्रीति बारहवीं तक शिक्षित हैं। प्रीति के परिवार में सात सदस्य हैं। उनके परिवार में माता- पिता के अलावा पांच भाई- बहन हैं। वे अपने परिवार में भाई- बहनों में सबसे बड़ी हैं। ई- रिक्शा के माध्यम से अपने परिवार को आर्थिक रूप से मदद करती हैं। प्रीति चाहती हैं कि महिलायें सभी क्षेत्रों में आगे बढ़ें। प्रत्येक क्षेत्र में वे अपनी स्वयं की पहचान बनायें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *