Uncategorised

जिला पंचायत अध्यक्ष ने किसानों को वितरित किये भावांतर राशि के प्रमाण पत्र जिले के 2 हजार 654 किसानों के बैंक खातों में हुआ 4.78 करोड़ रूपये का भुगतान

Spread the love

नरसिंहपुर, 12 फरवरी 2018. मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना के अंतर्गत जिला स्तरीय कृषि महोत्सव का आयोजन जिला पंचायत अध्यक्ष संदीप पटैल के मुख्य आतिथ्य में सोमवार को कृषि उपज मंडी प्रांगण नरसिंहपुर में सम्पन्न हुआ। यहां जिला पंचायत अध्यक्ष ने जिले के किसानों को भावांतर की राशि के प्रमाण पत्र प्रतीक स्वरूप वितरित किये। भावांतर भुगतान योजना के तहत तीसरे चरण में एक दिसम्बर से 31 दिसम्बर 2017 तक अपनी उपज का विक्रय मंडियों में करने वाले जिले के कुल 7 हजार 140 पंजीकृत किसानों के बैंक खातों में 13 करोड़ 26 लाख रूपये की भावांतर की राशि जमा कराई जा रही है, जिसमें से सोमवार को जिले के 2 हजार 654 किसानों के बैंक खातों में 4 करोड़ 77 लाख 95 हजार 297 रूपये की भावांतर की राशि आरटीजीएस/ एनईएफटी के माध्यम से जमा कराई गई।
कार्यक्रम के दौरान भोपाल में भावांतर भुगतान योजना के प्रमाण पत्र प्रदाय किये जाने के राज्य स्तरीय कार्यक्रम और उसमें मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के उद्बोधन का सीधा प्रसारण मंडी में एलईडी स्क्रीन पर किया गया, जिसे कार्यक्रम में मौजूद लोगों ने उत्साहपूर्वक देखा और सुना।
इस अवसर पर जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के अध्यक्ष वीरेन्द्र फौजदार, कलेक्टर अभय वर्मा, अपर कलेक्टर जे समीर लकरा, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आरपी अहिरवार, बंटी सलूजा, धनीराम पटैल, लालसाहब जाट, अन्य जनप्रतिनिधि व अधिकारी और बड़ी संख्या में किसान मौजूद थे।
इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष संदीप पटैल ने कहा कि उपज के कम दाम मिलने के किसानों के दर्द को समझते हुए किसानों को उनकी उपज का बाजिब मूल्य दिलाने के उद्देश्य से मध्यप्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना लागू की गई है। भावांतर भुगतान योजना लागू करना मध्यप्रदेश सरकार का साहसी और सराहनीय निर्णय है। किसानों की समस्याओं का निदान करने और खेती को लाभकारी बनाने के लिए आज मुख्यमंत्री द्वारा भोपाल में किसानों के हित में अनेक घोषणायें की गई हैं। इनका लाभ जिले के किसानों को भी मिलेगा।
जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के अध्यक्ष वीरेन्द्र फौजदार ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार किसानों के हित में काम कर रही है। जब- जब भी किसानों पर संकट आया है, मध्यप्रदेश सरकार ने किसानों की मदद की है। केन्द्र और राज्य सरकार द्वारा किसानों के हित में अनेक कल्याणकारी योजनायें लागू की गई हैं। किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा गया है।
कलेक्टर अभय वर्मा ने बताया कि पहले चरण में 16 अक्टूबर से 31 अक्टूबर तक की अवधि में मंडियों में अपनी उपज का विक्रय करने वाले जिले के पंजीकृत 2 हजार 694 किसानों को 4 करोड़ 37 लाख 99 हजार 56 रूपये का और माह नवम्बर में मंडियों में अपनी उपज का विक्रय करने वाले 9 हजार 343 किसानों को 18 करोड़ 41 लाख 81 हजार 827 रूपये का भुगतान उनके बैंक खातों में किया जा चुका है। तीसरे चरण में एक दिसम्बर से 31 दिसम्बर 2017 तक अपनी उपज का विक्रय मंडियों में करने वाले जिले के कुल 7 हजार 140 पंजीकृत किसानों के खातों में 13 करोड़ 26 लाख रूपये की भावांतर की राशि जमा कराई जा रही है। इस तरह 16 अक्टूबर से 31 दिसम्बर तक की अवधि में जिले के 19 हजार से अधिक किसानों को 36 करोड़ रूपये से अधिक की भावांतर की राशि का भुगतान होगा।
कार्यक्रम में राजीव ठाकुर ने कहा कि किसान भावांतर भुगतान योजना के अंतर्गत रबी फसलों चना, मसूर, सरसों एवं प्याज के लिए पंजीयन 12 फरवरी से 12 मार्च तक की अवधि में कराकर लाभ लें।
प्रभारी उप संचालक कृषि डॉ. आरएन पटैल ने भावांतर भुगतान योजना के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम का संचालन संजय चौबे ने और आभार प्रदर्शन सहायक संचालक गन्ना डॉ. अभिषेक दुबे ने किया। कार्यक्रम में कृषि वैज्ञानिकों एवं कृषि विभाग के अधिकारियों ने खेती की उन्नत तकनीकों के बारे में बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *