नरसिंहपुर

गुणवत्तायुक्त गेहूं खरीदी व खरीदी केन्द्रों के प्रभावी नियंत्रण के लिए उड़नदस्ता दल गठित

Spread the love

नरसिंहपुर, 14 फरवरी 2018. जिले के गेंहूं उपार्जन केन्द्रों में ई- उपार्जन के तहत किसानों से खरीदी किये जाने के लिए जिले के सभी उपार्जन केन्द्रों में गुणवत्तायुक्त गेहूं खरीदी किये जाने, उपार्जन केन्द्रों पर प्रभावी नियंत्रण, किसानों की शिकायतों के निराकरण और एफएक्यू गेहूं की खरीदी के उद्देश्य से कलेक्टर अभय वर्मा ने जिले में अनुविभाग व खरीदी केन्द्रों के अनुसार जिला स्तरीय उड़नदस्ता दलों का गठन कर प्रभारी अधिकारियों की नियुक्ति की है।
इस सिलसिले में अनुविभाग नरसिंहपुर के तहत उप पंजीयक सहकारी संस्थायें शकुंतला ठाकुर, कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी आभा शर्मा व वरिष्ठ सहकारी निरीक्षक साहेश चित्रे, अनुविभाग गोटेगांव के तहत कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी संजीव अग्रवाल, कृषि विकास अधिकारी डीके नेमा व सहकारी निरीक्षक एके चौधरी, अनुविभाग गाडरवारा के तहत महाप्रबंधक जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक आरसी पटले, सहकारी निरीक्षक आरके मेहरा व वरिष्ठ सहकारी निरीक्षक अनीता कोल, अनुविभाग गाडरवारा के तहत जिला प्रबंधक मप्र स्टेट सिविल सप्लाईज कार्पोरेशन एमके त्रिपाठी, वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी अरूण कुमार रावत व उप अंकेक्षक जीपी अहिरवार और अनुविभाग तेंदूखेड़ा के तहत जिला विपणन अधिकारी एसके गवले, वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी शक्ति कौरव व उप अंकेक्षक ओपी दीक्षित को विभिन्न खरीदी केन्द्रों के लिए उड़नदस्ता का प्रभारी अधिकारी/ सहायक अधिकारी- कर्मचारी का दायित्व सौंपा गया है।
कलेक्टर ने उड़नदस्ता के अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे आवंटित गेहूं उपार्जन केन्द्रों का सतत निरीक्षण करें। खरीदी केन्द्रों में किसी भी प्रकार की अनियमितता ना हो यह सुनिश्चित करें। शासन के निर्देशों के विपरीत उपार्जन नहीं हो। किसानों को कोई कठिनाई नहीं हो। उपार्जित गेहूं का भंडारण अगले दिन अनिवार्य रूप से किया जावे। पंजीकृत किसानों से गेहूं खरीदी हो। भुगतान की स्थिति का परीक्षण किया जावे। खरीदी केन्द्रों में किसी भी प्रकार की अनियमितता/ गड़बड़ी पाये जाने पर प्रकरण तैयार कर प्रस्तुत करें। नियुक्त प्रभारी अधिकारी अनियमितता को रोकने के लिए जबावदेह होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *